इंडिया स्टेम फाउंडेशन द्वारा फर्स्ट लेगो लीग इंडिया नेशनल चैंपियनशिप की शुरुआत


 

नई दिल्ली, भारत – फरवरी 9, 2016 – क्या आपने कभी फेंके जाने वाले कचरे के बारे में सोचा है? कभी भी इसका समाधान जानने या ढूंढने की कोशिश की है? क्या आपको पता है इससे संबंधित संस्था को कैसे सूचित किया जाए? इस समस्या का हल करने के लिए एक माध्यम/मंच की जरूरत के बारे में विचार किया है? कभी उन लोगों के लिए अपने शोध और विचारों के जरिये एक समाधान पेश करने की कोशिश की है जो कचरा रिसायकल करते हैं, उसे एक स्थान से दूसरे स्थान पर ले जाते हैं, स्टोर करते हैं या फिर दोबारा इस्तेमाल करते हैं? क्या कोई ऐसा समूह हो सकता है जिनके साथ आप अपनी समस्याएं साझा कर सकें या फिर कोई ऐसा जिसने आपकी समस्या सुलझाने में मदद की हो? क्या आप ऐसे किसी दूसरे समूह को जानते हैं जिसे आपके विचारों में दिलचस्पी हो सकती है?

उपरोक्त सवाल का हल एक अंतरराष्ट्रीय ख्यातिप्राप्त रोबोटिक्स प्रतियोगिता – फर्स्ट लेगो लीग इंडिया के जरिये प्रदान किया गया।

FLL India Championship inauguration New Delhi 2

फर्स्ट लेगो लीग (FLL) की राष्ट्रीय चैंपियनशिप का आयोजन नई दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में दिनांक 9 एवं 10 फरवरी 2016 को किया गया। FLL के क्षेत्रीय चैप्टर अहमदाबाद, कोयंबटूर, चेन्नई, मुंबई, पुणे, विजयवाडा और दिल्ली/एनसीआर के स्कूलों में आयोजित किये गये। इस प्रतियोगिता में देशभर के अलग-अलग स्कूलों से करीबन 390 बच्चों ने हिस्सा लिया। प्रतियोगिता के राष्ट्रीय विजेता अमेरिका में होने वाले वर्ल्ड फेस्टिवल में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे। यह फेस्टिवल 27 से 30 अप्रैल तक आयोजित होने वाला है।

इंडिया स्टेम फाउंडेशन द्वारा आयोजित होने वाला FLL, 9 से 16 वर्ष की आयु के बच्चों को विज्ञान और प्रौद्योगिकी के प्रति उत्साहित करते हुए उन्हें करियर तथा दैनिक जीवन के लिए बहुमूल्य व आवश्यक कौशल सिखाता है। इस वर्ष FLL इंडिया 2015-16 सीज़न के लिए राष्ट्रीय प्रायोजक भारत की प्रमुख ऑटोमोबाइल कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया लि. और रोबोजिनियस एकेडमी हैं।

इस वर्ष की चुनौती – ट्रैश ट्रेक में बच्चों ने लोगों द्वारा फेंकी जाने वाली चीजों के बारे में जाना और समझा। कचरा इकट्ठा करने से लेकर इसे छांटने और इसके बेहतर उत्पादन और दोबारा इस्तेमाल तक, कचरे के बारे में जानने के लिए काफी कुछ मौजूद है, जो सिर्फ देखने भर से पता नहीं चलता। प्रतियोगिता में टीमों को आमंत्रित करते हुए लोगों की जीवन में सुधार हेतु अपने शोध के जरिये रचनात्मक समाधान प्रस्तुत करने के लिए कहा गया। गहरे शोध और डिजाइन के बाद प्रतिभागियों और उनके मार्गदर्शकों ने अपनी समस्या-समाधान योग्यता, रचनात्मक सोच, टीम वर्क, प्रतिस्पर्धी क्षमता और साहस का प्रदर्शन किया।

इस अवसर पर बोलते हुए इंडिया स्टेम फाउंडेशन के डायरेक्टर एवं सीईओ सुधांशु शर्मा ने बताया कि, “FLL एक अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता है जो 9-16 की आयु के बच्चों को वास्तविक दुनिया की समस्याओं के लिए नए समाधान विकसित करने के लिए प्रोत्साहित करती है। इसके लिए शोध, रोबोट और अन्य वास्तविक अध्ययन साधनों का प्रयोग सिखाया जाता है। आज यहां इन युवा छात्रों द्वारा प्रस्तुत किए गए समाधानों में से कई में मुझे नई व्यावसायिक संभावनाएं भी देखने को मिली है। इनमें से कई समाधानों को कचरा प्रबंधन क्षेत्र में मौजूद हमारी सार्वजनिक और निजी संस्थाओं द्वारा आर्थिक रुप से लाभकारी उपक्रम के रूप में विकसित किया जा सकता है। भारत सरकार द्वारा हमारे कार्यक्रमों में रुचि दिखाए जाने पर मैं काफी उत्साहित हूं और मुझे उनके साथ आगे भी काम करते हुए भारत के अधिक से अधिक छात्रों को अपने कार्यक्रम में शामिल करने की उम्मीद है।

मारुति सुजुकी इंडिया लिमिटेड के आईटी, ट्रेनिंग एंड डेवलपमेंट विभाग के एक्जिक्युटिव डायरेक्टर, राजेश उप्पल ने कहा कि, “मारुति सुजुकी कई सहयोगियों के साथ कौशल विकास क्षेत्र में काम कर रही है। हमारा उद्देश्य देश के कौशल एवं योग्यता समूह को विकसित करते हुए मजबूत बनाना है। यह प्लेटफॉर्म हमें शिक्षा के शुरुआती चरण में ही रचनात्मक एवं नई सोच को बढ़ावा देने का अवसर देता है। यहां पर बच्चों द्वारा प्रस्तुत किये गये कुछ समाधान भारत सरकार के स्वच्छ भारत मिशन में काफी अधिक महत्व निर्माण करेंगे।

रोबाजिनियस एकेडमी की सीईओ डॉ. शबनम शर्मा ने कहा कि, “हम इन बच्चों के निर्माणों से काफी प्रभावित हुए हैं और इससे यह देखने को मिलता है कि आम जनता की ज्वलंत समस्याओं को सुलझाने के लिए किस प्रकार से तकनीक का उपयोग किया जा सकता है।

FLL प्रतियोगिता के विजेताओं पर निर्णय के लिए चार क्षेत्रों में आंकलन किया गयाः प्रोजेक्ट प्रेजेंटेशन, रोबोट परफॉर्मेंस, तकनीकि डिजाइन व रोबोट की प्रोग्रामिंग, और टीम बनकर काम करना। कार्यक्रम की भावना और इसके मूल्यों का श्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाली टीम को विजेता घोषित किया जाएगा।

Related PhotographsClick Here

# # #

फर्स्ट लेगो लीग के बारे में

फर्स्ट® (For Inspiration and Recognition of Science and Technology) और लेगो ग्रुप के बीच भागीदारी ने एक ऐसे मजबूत कार्यक्रम का निर्माण किया है, जो युवाओं को विज्ञान और प्रौद्योगिकी के दिलचस्प पहलू को समझने में मदद करता है और साथ ही आत्मविश्वास, जानकारी बढ़ाने व कैरियर और जीवन के लिए आवश्यकत बहुमूल्य कुशलताएं निर्माण करता है।

व्यस्क प्रशिक्षकों के मार्गदर्शन में फर्स्ट लेगो लीग की टीमें भोजन, सुरक्षा, रिसायकलिंग, ऊर्जा जैसी वास्तविक दुनिया की किसी एक समस्या पर शोध करती हैं। उन्हें अनिवार्य रूप से लेगो माइंडस्ट्रॉर्म्स® टेक्नोलॉजी की मदद से एक रोबाट की डिजाइन और प्रोग्राम करते हुए उसका निर्माण करना होता है और एक टेबल-टॉप कार्य क्षेत्र में प्रतिस्पर्धा करनी होती है।

इंडिया स्टेम फाउंडेशन के बारे में

इंडिया स्टेम फाउंडेशन (ISF) एक गैर-लाभकारी संगठन है जो कि कंप्यूटर विज्ञान, प्रौद्योगिकी, इंजीनियरिंग और गणित (CS-STEM) के प्रति रोबोटिक्स लर्निंग प्लेटफॉर्म और अन्य शोध आधारित वास्तविक उपयोग वाले शिक्षा उपकरणों के जरिये छात्रों में उत्सुकता निर्माण करने का काम करता है। अधिक जानकारी के लिए, कृपया वेबसाइट देखें https://indiastemfoundation.org/

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: